Best Modak Banane ki Vidhi 45 मिनट में।

मोदक (Modak Banane ki Vidhi) एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है जिसे गणेश चतुर्थी जैसे त्योहारों के दौरान बनाया जाता है। यह एक भाप से पका हुआ या तली हुई मिठाई है जो चावल के आटे, गुड़ और कसा हुआ नारियल से मोदक बनाया जाता है। कसा हुआ नारियल और गुड़ को एक साथ तब तक पकाएं जब तक कि गुड़ पिघल न जाए और मिश्रण गाढ़ा न हो जाए। भरने के स्वाद को बढ़ाने के लिए अक्सर इलायची पाउडर और कटे हुए मेवे डाले जाते हैं।

मोदक (Modak Recipe) बनाने के लिए चावल के आटे को पानी, नमक और घी के साथ मिलाकर नरम आटा गूंथ कर तैयार किया जाता है। आटा फिर छोटी गेंदों में बांटा जाता है, एक डिस्क में चपटा होता है, और नारियल-गुड़ के मिश्रण से भर जाता है। फिर डिस्क के किनारों को एक साथ लाया जाता है और सील करने के लिए पिंच किया जाता है, जिससे पिरामिड का आकार बनता है। इसके बाद मोदक को स्टीम किया जाता है या तब तक फ्राई किया जाता है जब तक कि वे पक न जाएं।

मोदक भगवान गणेश की पसंदीदा मिठाई मानी जाती है, और इसे गणेश चतुर्थी उत्सव के दौरान प्रसाद के रूप में चढ़ाया जाता है। मीठे मोदक को भारतीय घरों और रेस्तरां में मिठाई के रूप में भी परोसा जाता है। क्षेत्र के आधार पर मोदक थोड़ी भिन्न हो सकती है, लेकिन मूल सामग्री और मोदक समान रहती है।

मोदक जैसी और रेसिपी :- खीर मोहन, गुजिया, काजू कतली, रसमलाई, गुलाब जामुन, बेसन के लड्डू और रसगुल्ला

मोदक रेसिपी सामग्री

Modak Banane ki Vidhi
  • 1 कप चावल का आटा
  • 1 1/4 कप पानी
  • 1/2 छोटा चम्मच नमक
  • 1 बड़ा चम्मच घी
  • 1/2 कप कद्दूकस किया हुआ नारियल
  • 1/2 कप गुड़
  • 1/2 छोटा चम्मच इलायची पाउडर
  • 1 बड़ा चम्मच कटे हुए मेवे (वैकल्पिक)

modak banane ki vidhi

1. एक भारी तली के बर्तन में 1 1/4 कप पानी, 1/2 छोटा चम्मच नमक और 1 बड़ा चम्मच घी (मक्खन) डालकर उबाल लें।

2. एक बार जब पानी उबलने लगे, तो आँच को कम कर दें और लगातार हिलाते हुए धीरे-धीरे 1 कप चावल का आटा डालें। अच्छी तरह मिलाएं जब तक कि कोई गांठ न रह जाए।

3. पैन को ढक्कन से ढक दें और धीमी आंच पर 5 मिनट तक पकने दें।

4. गर्मी से निकालें और इसे कुछ मिनटों के लिए ठंडा होने दें जब तक कि इसे संभालना आसान न हो जाए।

5. आटे को अच्छी तरह से मसल कर चिकना और मुलायम बना लीजिये। आटे की स्थिरता को समायोजित करने के लिए आप थोड़ा पानी या चावल का आटा मिला सकते हैं।

6. एक अलग पैन में, 1/2 कप कद्दूकस किया हुआ नारियल और 1/2 कप गुड़ डालें और धीमी आंच पर गुड़ के पिघलने और मिश्रण के गाढ़ा होने तक पकाएं। मिश्रण को कड़ाही में चिपकने से बचाने के लिए लगातार चलाते रहें।

7. नारियल-गुड़ के मिश्रण में 1/2 टीस्पून इलायची पाउडर और 1 टेबलस्पून कटे हुए मेवे (वैकल्पिक) डालें और अच्छी तरह मिलाएँ।

8. चावल के आटे की छोटी-छोटी लोई बना लें और हाथों से चपटा करके चपटा कर लें। डिस्क के किनारों को पतला और केंद्र को थोड़ा मोटा रखना सुनिश्चित करें।

9. डिस्क के बीच में एक चम्मच नारियल-गुड़ का मिश्रण रखें।

10. डिस्क के किनारों को एक साथ लाएं और उन्हें एक पिरामिड आकार बनाने के लिए सील करने के लिए पिंच करें। मोदक को अच्छी तरह से सील कर दें ताकि स्टीम करते समय मोदक बाहर न निकले।

11. साभी आटा और मिश्रण के साथ इस प्रक्रिया को दोहराएँ।

12. एक बार जब सभी मोदक तैयार हो जाएं, तो उन्हें स्टीमर में 10-12 मिनट या जब तक वे पक न जाएं, स्टीम कर लें। मोदक को भाप में पकाने के लिए आप प्रेशर कुकर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। स्टीमर या प्रेशर कुकर में इतना पानी डालें कि वह सूख न जाए।

13. जब मोदक भाप में पक जाएं तो उन्हें स्टीमर से निकाल लें और कुछ मिनट के लिए ठंडा होने दें।

14. मोदक को गर्म या कमरे के तापमान पर परोसें। मोदक का स्वाद बढ़ाने के लिए आप ऊपर से थोड़ा घी या नारियल का दूध भी डाल सकते हैं।

pro tips for modak banane ki vidhi

Modak Banane ki Vidhi

सही प्रकार के चावल के आटे का उपयोग करें: मोदक के लिए विशेष रूप से बने चावल के महीन आटे का उपयोग करें। इस प्रकार का चावल का आटा किराने की दुकानों में आसानी से उपलब्ध होता है और अन्य व्यंजनों के लिए इस्तेमाल होने वाले नियमित चावल के आटे से अलग होता है।

आटे को अच्छी तरह से गूंथ लें: आटे को कम से कम 10 मिनट तक मसल कर चिकना और नरम कर लें। आटा ज्यादा सूखा या ज्यादा गीला नहीं होना चाहिए। आटे की स्थिरता को समायोजित करने के लिए आप थोड़ा पानी या चावल का आटा मिला सकते हैं।

मोदक को सही तरीके से भाप लें: सुनिश्चित करें कि मोदक को धीमी से मध्यम आंच पर ही भाप दें और स्टीमर में ज्यादा न भरें। मोदक के बीच में थोड़ी सी जगह छोड़ दें ताकि मोदक आपस में चिपके नहीं। इसके अलावा, मोदक को चिपकने से रोकने के लिए स्टीमर प्लेट को थोड़े से तेल या घी से चिकना कर लें।

मोदक को अच्छी तरह से सील कर लें: ध्यान रहे कि मोदक के किनारों को आपस में चिपका कर अच्छी तरह से सील कर दें। यदि किनारों को ठीक से सील नहीं किया गया है, तो स्टीमिंग के दौरान फिलिंग बाहर आ सकती है।

बनावट के लिए मेवा मिलाएँ: नारियल-गुड़ के मिश्रण में कटे हुए मेवे जैसे बादाम या काजू मिलाने से मोदक कुरकुरे बनते हैं और उनका स्वाद बढ़ जाता है।

ताज़ी सामग्री का इस्तेमाल करें: मोदक की फिलिंग बनाने के लिए ताज़े नारियल और गुड़ का इस्तेमाल करें। ताजी सामग्री मोदक को बेहतर स्वाद और बनावट देगी।

गरमागरम परोसें: मोदक को गर्म या कमरे के तापमान पर परोसें। मोदक का स्वाद और बनावट तब सबसे अच्छा होता है जब उन्हें ताज़ा परोसा जाता है।

मुझे उम्मीद है कि modak banane ki vidhi के लिए ये प्रो टिप्स आपको सही मोदक बनाने में मदद करेंगे।

FAQs for Modak Recipe in Hindi

मोदक कितने प्रकार के होते हैं?

मोदक कई प्रकार के होते हैं, लेकिन सबसे लोकप्रिय उकादिचे मोदक (उबले हुए मोदक) और तले हुए मोदक हैं।

मोदक के लिए कौन सा चावल का आटा सबसे अच्छा है?

मोदक बनाने के लिए विशेष रूप से बनाया गया महीन चावल का आटा मोदक के लिए सबसे अच्छा चावल का आटा है।

मोदक खाने से क्या फायदा होता है?

मोदक एक उच्च ऊर्जा वाला भोजन है जो शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान कर सकता है। यह कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और minerals जैसे पोषक तत्वों का भी एक अच्छा स्रोत है।

भगवान गणेश को मोदक क्यों चढ़ाया जाता है?

मोदक भगवान गणेश की पसंदीदा मिठाई मानी जाती है और गणेश चतुर्थी के त्योहार पर उन्हें प्रसाद के रूप में इसका भोग लगाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश, हिंदू हाथी के सिर वाले देवता, मोदक के शौकीन हैं और जो उन्हें भक्ति के साथ अर्पित करते हैं, उन्हें आशीर्वाद देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *